Hindi · Poetry

आईना

broken-face--large-msg-114092377618-2

               न जाने क्यों दरारे मेरे माथे की मिटती नहीं मिटाते,

               वो भी क्या वक़त था , जब सख़्सीयते आईना थी |

© Abhishek Yadav 2015

image source – www.google.co.in