Hindi

एक टुकड़ा आसमान का

267675

अरमानो को गुबार ठुसे पड़े है, रूह में ,

कुलबुलाते , बुलबुलते ,लबरेज , छलछलाते,

बड़े अरमानो से सींचे ,

कही दफ़न न हो जाये , मेरे साथ मेरी कब्र में |

हो सके तो एक टुकड़ा मुझे दे देना आसमान का ,

छोटे सुर्ख बादलों वाला ,

आरज़ू-ए-ज़िन्दगी समझ कर मेरे खुदा |

हो सके मेरे अरमानो की स्याही ,

गुलाल बन बरसे किसी और की ज़िन्दगी पर |

1082113305

© Abhishek Yadav 2016

Image Source – www.google.co.in

Hindi

बेवफा यार

बेवफा यार…

तुम चाँद हो, कभी आधा , कभी अधूरा , कभी सिमटी ,तो कभी पूरा ,

जितना तुम को पास बुलाऊ ,तुम उतना ही इतराती हो,

जो कभी थाम लू, तो शर्म से सुर्ख हो जाती हो,

न मेरी सुनती , न कभी अपनी बतलाती हो,

न मुस्कुराती , न गुनगुनाती , न कभी बलखाती हो |

 

जितना भी समझना , बुझना चाहा , उतना ही तुम भँवर बनती हो ,

तुम से क्या कहुँ मेरी ज़िन्दगी , तुम क्या क्या नखरे दिखलाती हो,

मेरे दामन में भी होकर , दुसरो के कंधो पर मचलाती  हो,

बस भी करो कितना , दिलो को जलती हो |

 

ठीक है ,

अब हम भी ढीठ हो कर गुजरेंगे तुम्हारी गलियो से,

बना कर जलसा – ऐ- प्यार ,

तब चिलमन से आ कर मत कहना , की

जो निकल गया, वो था

मेरा बेवफा यार ..!!

 

9760634

© Abhishek Yadav 2015

image source – www.google.co.in