Hindi

ज़िन्दगी

गमो की चिलम फुकने कि इतनी तलब है।
की हर रोज सबरे ही निकल पडते है ,तुम्हारी तलाश में ये ज़िन्दगी

Advertisements