Hindi

Keep Waling

Who were with me,

Who are with me,

Who would come to me,

I don’t know, I never remember it, I would not ever ponder it.

 

People came to me and gone back,

People robbed me and enriched me with experiences ,

People cursed me and cherries my aspirations

People depressed me and motivated my dreams,

 

I never cry, I never yell,

I never disillusioned, I never blame ,

I never depressed, never settled down .

 

One thing which I did in my entire life,

That was keep walking,

Walking all around my dreams,

Walking over my chaos,

Walking in my sorrow,

Walking and just walking,

 

I did all these, entire of my life because I know something,

A secret of life,

Nothing is permanent and I am a solo traveler,

So keep walking.

 

© Abhishek Yadav-2016

Image Source- www.google.co.in

Advertisements
Hindi

मेरा धर्म

image

समय के समंदर में ,कुछ पलो के लिए रुक भी जाओ ,

थक चुका मैं, अपनी  नाव खेते,

कुछ सांसो के लिए रुक भी जाओ |

 

सांसे अब उखड गयी , जीवन-नाव खेते ,

किनारा फलक के पार अदृश , दृस्तिविहिन ,

मेरी छमता, मेरी सीमा के पार ,

ऐसे में अब इतना भी मत उकसाओ |

कुछ ऋतुएं भर न सही , पर कुछ पलो के लिए ही ,

मुझे मेरे पास रख जाओ |

 

मुस्कुराई और बोली –

कुछ छड़ो के लिए भी रुक गए तुम ,

तो यही जड़वत हो जाओगे,

भावनाओ ,  अकॉक्षाऔ का बवंडर है ,

स्वप्नों की आँधी है,

उम्मीदों को ओले  है ,

और सम्बन्धो की व्यधि है |

 

रुक गए , तो जकड जाओगे,

पत्थर बनकर धस जाओगे ,

थम गए तो ज्वाला मर जाएगी आत्मा की ,

और, ऊष्मा आलोक हो जाएगी दिवास्वप्नों  की |

 

तुम केवट हो , तुम्हे नाव चलाये रखनी है ,

अपने कर्तव्यों से,

अपने कर्मो से ,

रुकना तुम्हारा धर्म नहीं है |

 

 

और मैं लौट आया ,अपने कर्तव्यों की दुनिया में ,

मेरा धर्म निभाने |

© Abhishek Yadav 2016

Image Source – www.google.co.in