जीवन

tree-of-life-wallpaper
जीवन

सीधी रेखा मे चलना चाहता हू जीवन मे, पर जीवन तो है रेखाओ का जाल,

जितना सुलझाने की कोशिश करता , उतना बिखरता ये मकाड़जाल ,

रोज नयी कहानी, रोज नयी परेशानी, जीवन साँसो की आधा- प-ती ,

रोज -रोज संघर्ष की कहानी, जो खतम ना हो पाती |

 

समस्याए है अनंत, अकट्टये, अपरंमपार,

 पर  इन से निपत का की संघर्ष है, जीवन का सार ,

जो भी जीवित है, उसकी जीवन मे संघर्ष रोज नया, जिस दिन बिखरे उस दिन जीवन ही कहा…?

जो भी मैने जीवन सी सीखा बतलता हूॅ, संघर्ष से मत डरो ये ही कह पता हूॅ |

 

जो संघर्ष किया तो ही आगे बढ़ पाओगे , बिन संघर्ष रेंगते रह जाओगे,

जो आगे ना बढ़े , उपर ना उठे , तो जीवन क्या …?

क्या सीखोगे , क्या दूसरो को संघर्ष स्मरण बतलोगे ..?

 

मृतक ही आराम से सोते है ,

 आराम से रह पाते है, जो जीवित है वो ही संघषो से गाथाये बनाते है ,

उठ जाओ भरो फिर से नयी चाल ,

बताओ परिस्थितीयो को अपने लड़ने से जीवित होने का हाल |

                                                   © Abhishek Yadav 2015

                                           image source www.google.in

Advertisements

Author: Free Spirit- Abhishek

I am a free spirit. I am living human because I not only see this entire world but also react, the response on impulses after my own observation and analysis. I write because, I see and all thing which is around me and I reacts on those small and big impulses, desires, ideas, and motivations. there are many stories, many ideas, many thoughts are in my mind, which I share via my blog My philosophy is to share what is I see, what I feel, what I imagine, what I react with people all around me, somewhere out, freelining somewhere far from me, rather than keeping within me.

2 thoughts on “जीवन”

I am waiting for your feedback -

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s